Deepak Kumar Saini - B.E. (Civil) - Vastu & Geopathy Expert

राधा कृष्ण विवाह के दिन क्या काम करें?

हिंदू पंचांग के अनुसार माघ महीने की शुक्ल पक्ष की द्वादशी तिथि के दिन देवी राधा रानी और भगवान श्री कृष्ण जी का विवाह भगवान ब्रह्मा जी के द्वारा करवाया गया था।

हिंदू पंचांग

हिंदू पंचांग

ग्रेगोरियन कैलेंडर के मुताबिक देवी राधा रानी और भगवान श्री कृष्ण जी के विवाह की तिथि 2024 में बुधवार के दिन 21 फ़रवरी के दिन पर है।

ग्रेगोरियन कैलेंडर

ग्रेगोरियन कैलेंडर

भगवान श्रीकृष्ण और राधा रानी की पूजा और अर्चना मंदिर या पूजा स्थल में उनकी मूर्तियों को सजाकर तथा उन्हें पुष्प, धूप, दीप और नैवेद्य अर्पित करें।

पूजा और अर्चना

राधा कृष्ण विवाह के दिन व्रत रखना एवं उपवास करना बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है ऐसा करने से मानवीयता और आध्यात्मिकता में उन्नति होती है।

व्रत और उपवास

व्रत और उपवास

राधा कृष्ण के भजन और कीर्तन करना विशेष रूप से इस दिन अत्यंत ही शुभ होता है इससे आपके मन को शान्ति मिलती है और भगवान की कृपा प्राप्त होती है।

भजन और कीर्तन

भजन और कीर्तन

राधा कृष्ण विवाह के दिन विष्णु सहस्त्रनाम अद्भुत स्तोत्र का पाठ करने से भगवान की कृपा प्राप्त होती है और आध्यात्मिक साधना में सहारा मिलता है।

विष्णु सहस्त्रनाम स्तोत्र

विष्णु सहस्त्रनाम स्तोत्र

राधा कृष्ण विवाह के दिन सत्संग या प्रवचन में भाग लेकर अपने आत्मिक जीवन को समृद्धि प्राप्त कराना अत्यंत ही शुभ होता है।

सत्संग और प्रवचन

सत्संग और प्रवचन

राधा कृष्ण विवाह के दिन दान और सेवा का महत्वपूर्ण स्थान है इस दिन आशीर्वाद की राह में दुर्बलों की सहायता करना और दान करना बहुत ही फलदायी माना जाता है।

दान और सेवा

दान और सेवा

भैमी एकादशी के व्रत के लाभ