Deepak Kumar Saini - B.E. (Civil) - Vastu & Geopathy Expert

खरमास में क्या काम कर सकते हैं?

वैदिक पंचांग के अनुसार खरमास फाल्गुन माह की शुक्ल पक्ष की चतुर्थी से शुरू होकर चैत्र माह की छठी तिथि को समाप्त होगा।

वैदिक पंचांग

ग्रेगोरियन कैलेंडर के मुताबिक खरमास 13 मार्च 2024 बुधवार के शुरू होकर 14 अप्रैल 2024 रविवार को समाप्त होगा।

ग्रेगोरियन कैलेंडर

ग्रेगोरियन कैलेंडर

लोक कथाओं के हिसाब से खरमास के दौरान दान-पुण्य करना बहुत ही शुभ माना जाता है।

दान

दान

हिंदू मान्यताओं के तहत खरमास में जप और तप करना सबसे ज्यादा अच्छा माना जाता है।

जप और तप

पौराणिक कथाओं के अनुसार खरमास में मंत्र जाप करना अत्यंत फलदायी माना जाता है।

मंत्र जाप

ऐसा माना जाता है कि खरमास के दौरान तीर्थ यात्रा करने से सबसे ज्यादा फल प्राप्त होता है।

तीर्थ यात्रा

हिंदू ग्रंथों के मुताबिक खरमास में रोज़ाना सुबह-सुबह सूर्य को अर्घ्य ज़रूर देना चाहिए तथा पूजा-अर्चना करनी चाहिए।

सूर्य पूजा

सूर्य पूजा

हिंदू कथाओं के हिसाब से खरमास में ब्राह्मण, गाय, गुरु और साधु-संतों की सेवा ज़रूर करनी चाहिए।

सेवा

आमलकी एकादशी के दिन क्या करें?