Deepak Kumar Saini - B.E. (Civil) - Vastu & Geopathy Expert

सरसों के तेल की मालिश करने के लाभ

दोस्तों क्या आप जानते हैं हमारे सनातन धर्म में कोई भी कार्य करने के पीछे कोई न कोई धार्मिक, शास्त्रीक और वैज्ञानिक गुण हमेशा छुपा होता है।

सनातन धर्म

महर्षि चरक ने तो यह तक कहा है कि सरसों के तेल की मालिश करने से व्यक्ति की आयु बढ़ती है तथा वह हमेशा स्वस्थ रहता है।

महर्षि चरक

सरसों के तेल की मालिश करने का वास्तविक स्वरूप तो हमारी त्वचा को कोमल, नसों को मजबूत और रक्त को गतिशील बनाता है।

वास्तविक स्वरूप

अपने शरीर की मालिश करने के लिए अन्य तेलों की अपेक्षा विशुद्ध सरसों का तेल सबसे अधिक लाभप्रद है।

सरसों का तेल

सरसों का तेल

यदि सिर में प्रतिदिन अच्छी तरह सरसों के तेल की मालिश की जाए तो सिरदर्द, बालों का गिरना, मस्तिष्क की निर्बलता आदि अन्य सभी समस्याएँ अपने आप शांत हो जाती हैं।

सिर की मालिश

सिर की मालिश

सरसों के तेल की मालिश करने के साथ हफ्ते में 1 बार कानों में भी सरसों का तेल ज़रूर डालना चाहिए।

सरसों के तेल की मालिश

सरसों का तेल कान में डालने से आपको कभी भी वातन रोग, फोड़े-फुंसी, ऊँचा सुनने और बहरेपन की समस्या नहीं होती है।

कानों में सरसों का तेल

सरसों का तेल यदि पैरों के तलुओं पर मला जाए तो कभी भी पैरों और नेत्रों से संबंधित परेशानियाँ नहीं होती है।

पैरों में तेल मलना

कालाष्टमी के दिन क्या करें?