Deepak Kumar Saini - B.E. (Civil) - Vastu & Geopathy Expert

मोक्षदा एकादशी के व्रत रखने के लाभ

हिंदू पंचांग के अनुसार मार्गशीर्ष माह की शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को ही मोक्षदा एकादशी के नाम से जाना जाता है।

हिंदू पंचांग

ग्रेगोरियन कैलेंडर के मुताबिक मोक्षदा एकादशी 22 दिसंबर 2023 शुक्रवार के दिन है।

ग्रेगोरियन कैलेंडर

ग्रेगोरियन कैलेंडर

पद्मपुराण के अनुसार मोक्षदा एकादशी के दिन तुलसी की मंजरी व धुप आदि से भगवान दामोदर जी का पूजन करना चाहिए।

किसका पूजन करें?

किसका पूजन करें?

मोक्षदा एकादशी के दिन उपवास रखकर श्री हरि के नाम का संकीर्तन, भक्ति गीत, नृत्य करते हुए रात्रि में जागरण करना चाहिए।

क्या करें?

जो मनुष्य इस कल्याणमयी मोक्षदा एकादशी का व्रत करता है उसके व उसके पित्तरों के सारे पाप नष्ट हो जाते हैं।

पाप नाशक

पाप नाशक

प्राणियों को भवबंधन से मुक्ति देने वाली मोक्षदा एकादशी चिन्तामणि के समान समस्त कामनाओं को पूर्ण करने वाली एकादशियों में से एक मानी जाती है।

मोक्षदा एकादशी

मोक्षदा एकादशी की पौराणिक कथा पढने और सुनने मात्र से वाजपेय यज्ञ का पुण्य फल मिलता है।

फल

मोक्षदा एकादशी के दिन मोक्षदा एकादशी का व्रत करने वालों को दिव्य फलों की प्राप्ति होती है।

दिव्य फल

पूजा के दीपक को धोएँ या नहीं?