कहाँ लगाएँ गुरु जी की तस्वीरें?

गुरु जी की तस्वीर

गुरु जी की तस्वीर

दोस्तों आज हम आपको बताएँगे कि हमें घर व व्यवसाय परिसर में अपने गुरु जी की तस्वीरें वास्तु शास्त्र के नियमों के तहत कहाँ लगानी चाहिए?

गुरु के प्रति आस्था

गुरु के प्रति आस्था

आजकल काफी लोग गुरु जी को बहुत मानते हैं तथा सबके गुरु जी अपनी-अपनी आस्थाओं के हिसाब से अलग-अलग होते हैं।

भगवान के साथ

भगवान के साथ

वर्तमान में आम ही देखने को मिलता है कि कई लोग अपने घर व व्यवसाय परिसर में अपने गुरु जी तस्वीर को मंदिर में ही भगवान की मूर्तियों को तस्वीरों के साथ रखते हैं।

स्थान अलग

स्थान अलग

हिंदू शास्त्रों के हिसाब से हमारे भगवान का स्थान अलग होता है और हमारे गुरु जी का स्थान अलग होता है।

न करें ये काम

न करें ये काम

कभी भी हमें घर और व्यवसाय परिसर में अपने गुरु जी की तस्वीरों को मंदिर में नहीं रखना चाहिए क्योंकि ऐसा करना उचित नहीं माना जाता है।

पश्चिम दिशा

पश्चिम दिशा

वास्तु शास्त्र के नियमों के मुताबिक घर व व्यवसाय परिसर में हमें अपने गुरु जी तस्वीरों को सिर्फ पश्चिम दिशा में ही लगाना चाहिए।

अक्षय तृतीया का क्या महत्व है?