Deepak Kumar Saini - B.E. (Civil) - Vastu & Geopathy Expert

घर के मंदिर में भगवान की कितनी बड़ी मूर्तियाँ रखें?

हिंदू धर्म के लोगों के हर घर में मंदिर या पूजा कक्ष अवश्य होता है जहाँ देवी-देवताओं की मूर्तियों की पूजा होती हैं।

पूजा स्थान

घर के मंदिर या पूजा कक्ष में लोग अलग-अलग प्रकार के धातु और विभिन्न आकारों की मूर्तियाँ रखते हैं।

मंदिर या पूजा कक्ष

आइए आज हम आपको बताते हैं कि घर के मंदिर या पूजा कक्ष में भगवान की कितनी बड़ी व छोटी मूर्तियाँ रखनी चाहिए?

कौन-से आकार की मूर्ति

घर व घर के मंदिर या पूजा कक्ष में देवी-देवताओं की ज्यादा बड़ी मूर्तियाँ नहीं रखनी चाहिए।

भगवान की प्रतिमा

हिंदू शास्त्रों के अनुसार घर, घर के मंदिर और पूजा कक्ष में 8-9 इंच से बड़ी भगवान की मूर्तियाँ नहीं रखनी चाहिए।

मूर्तियों का आकार

मूर्तियों का आकार

घर, घर के मंदिर और पूजा कक्ष में अपने अंगूठे के बराबर ही शिवलिंग रखना चाहिए तथा इससे बड़ा शिवलिंग नहीं रखना चाहिए।

शिवलिंग का आकार

घर में भगवान की छोटी और बड़ी मूर्तियाँ रखने से दोनों की पूजा करने के नियम बहुत ही अलग अलग हो जाते हैं।

विभिन्न पूजा के नियम

अगर आप अपने घर के पूजा स्थान में भगवान की बड़ी मूर्तियाँ रखते हैं तो आपको मंदिर के भाँति ही उन मूर्तियों की सेवा करनी पड़ती है।

मूर्तियों की सेवा

शास्त्रों की मानें तो घर पर भगवान की बड़ी मूर्तियों की पूजा में छोटी सी गलती भी नकारात्मक प्रभाव डाल सकती है।

पूजा में गलती

घर में कुल देवी/देवता कहाँ रखें?